Hindi and Pedagogy MCQ Questions with Answer

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on telegram
Telegram
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on pinterest
Pinterest
Share on reddit
Reddit
Share on tumblr
Tumblr
Hindi and Pedagogy MCQ Questions with Answer
Quiz-1Quiz-2Quiz-3

निर्देश (प्रश्न 1-9): गद्यांश को पढ़कर निम्नलिखित प्रश्नों में सबसे उचित विकल्प चुनिए।

समूची स्वार्थी व अहं-प्रेरित प्रवृत्तियाँ नकारात्मक हैं, ऐसे कर्मों में ऊँचे उद्देश्य नहीं होते, उनमें लोक-संग्रह नहीं होता, भव्य आदर्श नहीं होते। दूसरे, भले ही आप अपने सामने एक ऊँचा आदर्श रखें, तो भी आपके कर्म यदि आपके मनचाहे या अनचाहे से प्रेरित हैं तो वे हासमान ही होंगे, क्योंकि पसंद-नापसंद से किए गए कार्य वासनाओं को बढ़ाए बिना नहीं रहते। कोई काम आपको महज़ इस आधार पर नहीं करना चाहिए कि वह आपको पसंद है। उसी तरह कोई काम करने से आपको महज़ इस आधार पर नहीं कतराना चाहिए कि वह काम आपका मनचाहा नहीं है। कार्य का निर्णय बुद्धि-विवेक के आधार पर होना चाहिए। मनचली भावनाओं, तुनकमिज़ाज़ी के आधार पर कतई नहीं। इस एक बात को हमेशा याद रखिए कि पसंद और नापसंद आपके सबसे बड़े शत्रु हैं। आप इन्हें पहचानते तक नहीं। उल्टे आप इन्हें पाल-पोसकर दुलारते हैं। वे तो हर क्षण आपकी हानि व ह्रास करने पर ही तुले हैं। इनसे निबटने का व्यावहारिक मार्ग यह है कि अपनी रुचि और अरुचि का विश्लेषण करें।

Q1. कैसी प्रवृत्तियाँ नकारात्मक हैं?

(a) जो स्वयं का हित देखती हों

(b) जो अहं से ग्रसित हों

(c) जिनमें अर्थ का भाव हो

(d) जिनमें अहं और स्व-हित का भाव हो

Answer: (d)

Explanation: जिन प्रवृत्तियों में केवल अहं तथा स्वार्थ-हित का भाव निहित होता है, वे नकारात्मक होती हैं। ऐसी प्रवृत्तियों का उद्देश्य लोगों का हित करना नहीं अपितु स्वार्थ सिद्ध करना होता है।

Q2. कौन-से कार्य हानि की ओर ले जाते हैं?

(a) जिनमें मन के अनुसार और हित साधते हैं

(b) जो अपनी पसंद-नापसंद के आधार पर किए जाते हैं

(c) जिनमें संग्रह अनुपस्थित होता है

(d) जिनमें संग्रह कूट-कूटकर भरा होता है

Answer: (b)

Explanation: कुछ कार्य ऐसे होते हैं, जिनके करने का आधार केवल व्यक्ति की पसंद पर आधारित होता है। ऐसे कार्य करने से सदैव हानि होती है, क्योंकि इसमें निरंतर इच्छाओं का समावेश होता रहता है।

Q3. इस गद्यांश में किस प्रकार के कार्यों का समर्थन किया गया है?

(a) जो मनचाहे होते हैं

(b) जो मनचाहे नहीं होते हैं

(c) जो बुद्धि और विवेक-शक्ति के आधार पर किए जाते हैं

(d) जो मनचली भावनाओं और बुद्धि से परे होते हैं

Answer: (c)

Explanation: जो कार्य बुद्धि तथा विवेक के आधार पर किए जाते हैं, वही सफल होते हैं। इस कारण गद्यांश में बुद्धि तथा विवेक के आधार पर किए गए कार्यो का समर्थन किया गया है।

Q4. इस गद्यांश में किन्हें शत्रु कहा गया है?

(a) मनचली भावनाएँ

(b) तुनकमिज़ाज़ी

(c) अहं और स्वार्थ

(d) रुचि-अरुचि

Answer: (d)

Explanation: गद्यांश में पसंद तथा नापसंद अर्थात् रुचि-अरुचि को शत्रु माना गया

Q5. लेखक ने इन शत्रुओं से निबटने का कौन-सा मार्ग सुझाया है?

(a) विश्लेषण करना

(b) भव्य आदर्श रखना

(c) लोक-संग्रह करना

(d) कर्म करना

Answer: (a)

Explanation: लेखक के अनुसार अपनी रुचियों का विश्लेषण करने से इनसे बचा जा सकता है।

Q6. ‘नकारात्मक‘ का विलोम शब्द है

(a) अनकारात्मक

(b) सकारात्मक

(c) अननकारात्मक

(d) असकारात्मक

Answer: (b)

Explanation: ‘नकारात्मक’ का विलोम शब्द सकारात्मक होता है।

Q7. “वे तो हर क्षण आपकी हानि व ह्रास करने पर ही तुले हैं।” वाक्य में ‘वे’ सर्वनाम किसके लिए आया है?

(a) मनचली भावनाओं के लिए

(b) अहं-प्रेरित प्रवृत्तियों के लिए

(c) स्वार्थ-प्रेरित प्रवृत्तियों के लिए

(d) पसंद-नापसंद के लिए

Answer: (d)

Explanation: इस वाक्य में ‘वे’ शब्द पसंद-नापसंद के लिए प्रयुक्त किया गया है।

Q8. किस शब्द में ‘ना’ उपसर्ग का प्रयोग नहीं किया जा सकता है?

(a) काबिल

(b) हाजिर

(c) पसंद

(d) वाकिफ

Answer: (b)

Explanation: ‘हाज़िर’ शब्द में ‘ना’ उपसर्ग का प्रयोग करने से सार्थक शब्द का निर्माण नहीं किया जा सकता।

Q9. ‘विश्लेषण‘ का विलोम है

(a) संश्लेषण

(b) अविश्लेषण

(c) संश्लिष्ट

(d) सक्षेपण

Answer: (a)

Explanation: ‘विश्लेषण’ शब्द विलोम ‘संश्लेषण’ होता है।

निवेश (प्रश्न 10 – 16): गद्यांश को पढ़कर निम्नलिखित प्रश्नों में सबसे उचित विकल्प चुनिए।

रस आखिर है क्या? चैतन्य का चमत्कार हो तो। कहते है कि परजहा जो अद्वितीय, चैतन्यस्वरूप और ज्योतिर्मय है उसका सहज आनंद, चमत्कार और प्रकाश ही एकाकार होकर रस बनता है यानी रस उसी में होगा जो अपने कार्यों से आनंद, चेतना और प्रकाश दे। क्या ये गुण ही इस बात का प्रमाण नहीं है कि हमारे अगर इन तीनों ही चीजों का परम अभाव हो गया है। यह कहना कि विदेशी संस्कृतियों के संपर्क से ऐसा हुआ, वस्तु को गलत कोण से प्रस्तुत करना हो जाएगा। संस्कृति कोई बुरी नहीं होती। आखिर संस्कृति है क्या? एक विद्वान ने कहा था कि तमाम उपचकोटि को चीजे पलने पर जो भूल जाए वह पढ़ाई है, जो याद रह जाए वह संस्कृति है यानी कि संस्कृति किसी भी कौम की अच्छी से अचरी चीज को उसके सदस्यों के व्यक्तित्व में बची हुई सुगंध है। संस्कृतियाँ कौमों की अपनी आत्मा का आनंद, चमत्कार और प्रकाश होती हैं, जैसी जिस कौम की आत्मा होगी, वैसी ही उसकी संस्कृति होगी इसलिए हमें दूसरों की संस्कृतियों को कोसने की आदत छोड़ देनी चाहिए। असल में, दूसरी संस्कृतियों के संपर्क से शक्तिशाली संस्कृति और भी समृद्ध होती है, कमजोर संस्कृति उसके भार से दबकर लंगड़ी हो जाती है। किंतु किसी की संस्कृति की नकल नि:संदेह बुरी होती है क्योंकि वह हमें लंगड़ी नहीं ‘खेत का धोख’ बना देती है। एक बहरूपिया और जनखा बना कर छोड़ देती है। भारत बहुत सी संस्कृतियों के संपर्क में आया। चौक उसकी संस्कृति हमेशा ही सशक्त रही है, अब भी है, इसलिए वह समृद्ध ही होता गया। पर जब से उसने विदेशी संस्कृति की नकल शुरू की है, वह विराट की जगह ‘मिनी’ हो गया है।

Q10. गद्यांश के अनुसार रस क्या है?

(a) प्रभुता का चमत्कार

(b) चैतन्य का चमत्कार

(c) द्रव्य पदार्थ

(d) काव्य की अनुभूति

Answer: (b)

Explanation: गद्यांश के अनुसार रस चैतन्य का चमत्कार है। परब्रह्म का सहज आनंद, चमत्कार और प्रकाश ही एकाकार होकर रस बनता है।

Q11. रस अपने कार्यों से क्या प्रदान करता है?

(a) आनंद

(b) चमत्कार

(c) कोण

(d) गुण

Answer: (d)

Explanation: रस अपने कार्यों से आनंद, चेतना, तथा प्रकाश प्रदान करता है।

Q12. वस्तु को गलत कोण से कब प्रस्तुत किया जाता है?

(a) अभाव का दोषी शहरीकरण को मानना

(b) अभाव का दोषी भारतीय संस्कृति को मानना

(c) अभाव का दोषी विदेशी संस्कृति को मानना

(d) अभाव का दोषी समाजीकरण को मानना

Answer: (c)

Explanation: यदि हम अभाव का दोषी विदेशी संस्कृति को मानने लगते हैं, तो यह वस्तु को गलत कोण से प्रस्तुत करना होगा।

Q13. विद्वान के अनुसार अध्ययन करने के उपरांत भूलने वाली वस्तु है

(a) संस्कृति

(b) पढ़ाई

(c) साहित्य

(d) सभ्यता

Answer: (b)

Explanation: विद्वान मानते हैं कि भूलने वाली चीज़ पढ़ाई तथा याद रहने वाली चीज़ संस्कृति है।

Q14. अन्य संस्कृतियों के संपर्क में आने से शक्तिशाली संस्कृतियों पर क्या प्रभाव पड़ता है?

(a) वे समाप्त हो जाती हैं

(b) वे अपने मूलरूप में नहीं रहती हैं

(c) उन संस्कृति पर पूर्ण रूप से अन्य संस्कृतियों का प्रभाव पड़ जाता है

(d) समृद्ध हो जाती है

Answer: (d)

Explanation: शक्तिशाली संस्कृति जब दूसरी संस्कृतियों के संपर्क में आती हैं, तब वह उनके गुणों को अपने अंदर सम्मिलित करके समृद्ध हो जाती है।

Q15. लेखक के अनुसार भारतीय संस्कृति विराट से ‘मिनी’ क्यों हो गई?

(a) शक्तिशाली होने के कारण

(b) कमजोर होने के कारण

(c) कई संस्कृतियों के संपर्क में आने से

(d) विदेशी संस्कृतियों को नकल करने से

Answer: (d)

Explanation: भारत बहुत सी संस्कृतियों के संपर्क में आया और उन संस्कृतियों की नकल करने की वजह से भारतीय संस्कृति विराट से ‘मिनी’ बन गई है।

चिश (प्रश्न 16-30): सबसे अचित विकल्प का चयन कीजिए।

Q16. इनमें से किस विधि के अंतर्गत अध्यापक व्याकरण विषयों को प्रसंग के साथ जोड़ने का प्रयास करता है?

(a) प्रत्यक्ष विधि

(b) भाषा संसर्ग विधि

(c) पासॉगक विधि

Answer: (c)

Explanation: प्रासंगिक विधि के अंतर्गत शिक्षक विषयों को प्रसंग के साथ जोड़ने का प्रयास करता है।

Q17. किस विधि के अंतर्गत व्याकरण नियमों को जाने बिना भाषा के शुद्ध रूप का अनुभव किया जाता है?

(a) प्रत्यक्ष विधि

(b) सूत्र विधि

(c) भाषा-संसर्ग विधि

(d) पातय पुस्तक विधि

Answer: (a)

Explanation: प्रत्यक्ष विधि के अंतर्गत व्याकरण नियमों को जाने बिना, भाषा के शुद्ध रूप का अध्ययन किया जाता है।

Q18. लेखन कौशल के विषय में निम्न में से कौन-सा कथन सही है।

(a) लिखते समय विषय अधिक महत्वपूर्ण होता है, वर्तनी नहीं

(b) शिरारेखा का प्रयोग गर अपनी इच्छानुसार कर सकते है

(c) हिन्दी में पूर्ण विराम के इस चिह्न (।) के स्थान पर अंग्रेजी भाषा के विराम चिह्न (.) का प्रयोग कर सकते हैं

(d) लेखन के लिए केवल मानक वणों का प्रयोग ही उचित है

Answer: (d)

Explanation: लिखते समय केवल मानक वर्णो का प्रयोग ही करना चाहिए। इसके अलावा लिखते समय विषय के साथ-साथ वर्तनी तथा शिरारेखा भी महत्वपूर्ण है।

Q19. अनामिका सदैव ‘कुत्ता’ को ‘कुक्कुर’ बोलती है। यदि आप अनामिका के शिक्षक होते, तो इस स्थिति में क्या करते?

(a) अनामिका को कुत्ता बोलने के लिए कहते

(b) उसे गलत बोलने पर डाँटते

(c) इस ओर विशेष ध्यान नहीं देते

(d) कक्षा में सभी बच्चों को बताते कि कुत्ता को कुक्कुर भी कहा जाता है

Answer: (d)

Explanation: शिक्षक को कुछ शब्दों के अन्य नामों से भी विद्यार्थी को परिचित करवाना चाहिए।

Q20. आपके द्वारा पढ़ाए जा रहे विषय में छात्र रुचि नहीं ले रहे हैं। एक शिक्षक की दृष्टि से आप करेंगे?

(a) सभी छात्रों को सजा देंगे

(b) पढ़ाना छोड़ देगें

(c) अपने पढ़ाने के तरीके को बदलेगें

(d) प्रधानाचार्य से उस कक्षा को बदलने की प्रार्थना करेंगे

Answer: (c)

Explanation: यदि छात्र शिक्षक के पढ़ाए गए विषय में रुचि नहीं ले रहा है, तो शिक्षकों को अपने पढ़ाने के तरीकों में बदलाव लाना चाहिए। हो सकता है कि शिक्षक जिस विधि द्वारा पढ़ा रहा है, बच्चे उसे समझने में सहज ना हों।

Q21. भाषा-शिक्षण के संदर्भ में किसी शिक्षक के लिए सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण है

(a) भाषा प्रयोग के अधिक अवसर प्रदान करना

(b) निर्धारित पाठ्यक्रम को पूरा करना

(c) परीक्षा का आयोजन करना

(d) पाठ्यचर्या सहगामी क्रियाओं का आयोजन करना

Answer: (a)

Explanation: बालकों द्वारा भाषा का प्रयोग जितना ज्यादा किया जायेगा उनकी भाषिक क्षमता का विकास उतना ही अधिक होगा। अत: शिक्षक को चाहिए की भाषा-शिक्षण में बालकों को भाषा प्रयोग के अधिकाधिक अवसर दें।

Q22. उच्च कक्षाओं में

(a) भाषा कौशल साध्य है और साधन है-साहित्य

(b) भाषा की पाठ्य-पुस्तक अत्यंत महत्त्वपूर्ण है

(c) साहित्य साध्य है और भाषा कौशल साधन

(d) केवल छन्द अलंकार को समझने के प्रयास करना ही भाषा-शिक्षण का उद्देश्य है

Answer: (a)

Explanation: उच्च कक्षाओं में साहित्य द्वारा भाषा-कौशलों के विकास पर बल दिया जाता है। अतः साहित्य साधन तथा भाषा-कौशल साध्य है।

Q23. सतत मूल्यांकन का एक निहितार्थ है

(a) प्रतिदिन परीक्षाएँ लेना

(b) हर महीने परीक्षाएँ लेना

(c) बच्चों के भाषा प्रयोग का निरंतर अवलोकन करना

(d) बच्चों के परीक्षा सम्बन्धी भय को समाप्त करना

Answer: (c)

Explanation: सतत मूल्यांकन आकलन की वह विधि है जिसमें बालको की भाषा सीखने के तरीकों का निरंतर अवलोकन किया जाता है और यह भाषा शिक्षण को प्रभावी बनाने में सहायक होता है।

Q24. भाषा में रचनात्मक आकलन का सर्वाधिक बेहतर उदाहरण है-

(a) बच्चों को अपने खट्टे-मीठे अनुभव लिखने के लिए कहना

(b) श्रुतलेख

(c) प्रश्नों के उत्तर लिखना

(d) इकाई-परीक्षा लेना

Answer: (a)

Explanation: अनुभवों की लिखित अभिव्यक्ति में बच्चे सृजनात्मकता एवं रचनात्मकता का अधिक से अधिक प्रयोग करते हैं। अत: उनके द्वारा लिखित अनुभवों के आधार पर बच्चों की रचनात्मकता का अच्छे-से आकलन किया जा सकता है।

Q25. विभिन्न कार्यक्षेत्रों से जुड़ी प्रयुक्तियों से परिचय कराने के अवसर जुटाने चाहिए क्योंकि

(a) इससे अधिक अंक मिलते हैं

(b) यह सामाजिक परिस्थितियों को साधने में मदद करता ळे

(c) ऐसा पाठ्यचर्या में लिखा है

(d) ऐसा भाषाविद् कहते हैं

Answer: (b)

Explanation: विभिन्न कार्यक्षेत्रों से जुड़ी प्रयुक्तियों से बालकों का परिचय कराने से उन्हें समाज के अन्दर अपना योगदान देने तथा विभिन्न सामाजिक परिस्थितियों को समझने के योग्य बनाया जा सकता है।

Q26. लोकगीतों को भाषा की कक्षाओं में स्थान दिया जाना चाहिए क्योंकि

(a) इनसे बच्चे संस्कृतिगत विशेषताओं से परिचित होते हैं

(b) लोकगीतों को बढ़ावा देना भाषा-शिक्षण का मुख्य उद्देश्य है

(c) लोकगीत गाए जा सकते हैं

(d) केवल लोकगीतों के माध्यम से पारंपरिक मूल्यों की शिक्षा दी जा सकती है

Answer: (a)

Explanation: लोकगीतों में स्थान-विशेष की संस्कृति की झलक मिलती है। लोकगीतों को कक्षा में प्रस्तुत करने से विद्यार्थी उसे रुचि के साथ सुनते हैं व संस्कृति के साथ जुड़ाव महसूस करते हैं जिससे वे संस्कृतिगत विशेषताओं से परिचित होते हैं।

Q27. पाठ्य-पुस्तक में लोकगीतों का समावेश करने का कौन-सा अनिवार्य कारण नहीं है?

(a) भारतीय संस्कृति की विशेषताओं से परिचय

(b) लोकगीतों का सौंदर्य-बोध

(c) गेयता

(d) भाषा के विविध रंग-रूप

Answer: (b)

Explanation: पाठ्य-पुस्तक में लोकगीतों को शा. मिल करने का उद्देश्य उसके सौन्दर्य का बोध कराना नहीं है। लोकगीत भाषा का एक रूप है। इसके माध्यम से भाषा के विविध रूपों के साथ-साथ भारतीय संस्कृति की जानकारी मिलती है।

Q28. कविता-शिक्षण के संदर्भ में आप किस बिन्दु को सर्वाधिक महत्त्व देते हैं?

(a) कविता का एक निश्चित अर्थ होता है

(b) कविता के एक से अधिक अर्थ हो सकते हैं

(c) कविता में सामाजिक परिस्थितियों की झलक नहीं होती

(d) कविता में राजनैतिक परिस्थितियों की झलक नहीं होती

Answer: (b)

Explanation: किसी भी कविता के एक से अधिक अर्थ होते हैं। कविताओं के अर्थ पाठकों के विचारों से संबंधित होते हैं। एक ही कविता के अलग-अलग पाठक अलग-अलग अर्थ निकाल सकते हैं।

Q29. हिंदी भाषा के शिक्षक के रूप में आपके लिए सबसे कम महत्त्वपूर्ण है

(a) व्याकरणिक नियमों की जानकारी

(b) भाषा कौशलों का ज्ञान

(c) संवैधानिक मूल्यों की जानकारी

(d) भाषा-प्रयोग की क्षमता का विकास

Answer: (a)

Explanation: अन्य विकल्पों का महत्त्व व्याकरण के शिक्षण से ज्यादा महत्वपूर्ण है, इसलिए भाषा शिक्षक के रूप में व्याकरणिक ज्ञान देने की अपेक्षा भाषा-कौशलों, भाषा प्रयोग की क्षमता तथा संवैधानिक मूल्यों की जानकारी देने पर ध्यान देना उचित होगा।

Q30. भाषा सीखने का अर्थ उस भाषा की _________ सीखना भी है, क्योंकि भाषा किसी भी ________ का अभिन्न हिस्सा होती है।

(a) बारीकी, व्याकरण

(b) नियमबद्धता, व्याकरण

(c) ऐतिहासिकता, इतिहास

(d) संस्कृति, संस्कृति

Answer: (d)

Explanation: भाषा तथा संस्कृति एक दूसरे से जुड़े होते हैं। भाषा के माध्यम से ही संस्कृति का आदान-प्रदान किया जाता है। अतः किसी भी भाषा को सीखने के लिए उस भाषा की संस्कृति को सीखना अनिवार्य है।

Read Important Article

Leave a Comment

error: Content is protected !!