CTET July 2013 Question Paper-2

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on telegram
Telegram
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on pinterest
Pinterest
Share on reddit
Reddit
Share on tumblr
Tumblr
CTET July 2013 Question Paper-2 with Answer
Child DevelopmentMath and ScienceSocial StudiesLanguage-I(Eng)Language-II(Hindi)
Language-II(Hindi)

निर्देश : नीचे दिए गए गद्यांश को पढ़कर सबसे उचित विकल्प का चयन कीजिए:

जिनमें सहिष्णुता की भावना होती है, केवल ऐसे लोग अध्यापक होने योग्य होते हैं। जिनका बच्चों से प्यार भरा लगाव होता है, उनमें धैर्य स्वभावत: आ जाता है। अध्यापकों को जिस अंतर्निहित गंभीर समस्या से जूझना पड़ता है. वह यह है कि उन्हें जिनको देखना है वे शक्ति और प्रभुत्ता में उनकी बराबरी के नहीं होते। अध्यापक के लिए एकदम तुच्छ या बिना किसी कारण के या फिर वास्तविकता के बजाए किसी काल्पनिक कारण के चलते अपने छात्रों के सामने धैर्य खो देना, उनकी खिल्ली उड़ाना, उन्हें अपमानित या दंडित करना एकदम आसान और संभव है। जो एक निर्बल अधीन राष्ट्र पर शासन करते हैं, उनमें न चाहते हुए भी गलत काम करने की प्रवृत्ति पाई जाती है। उसी तरह ऐसे अध्यापक होते हैं जो बच्चों के ऊपर अपने प्रभुत्व का शिकार हो जाते हैं। जो शासन के अयोग्य होते हैं, उन्हें न केवल कमजोर लोग पर अन्याय करते हुए कोई अपराध-बोध नहीं होता, बल्कि ऐसा करने में उन्हें एक खास तरह का मजा मिलता है। बच्चे अपनी माँ की गोद में कमजोर, असहाय और अज्ञानी होते हैं। माता के हृदय में स्थिर प्रचुर प्यार ही उनकी रक्षा की एकमात्र गारंटी होता है। इसके बावजूद हमारे घरों में इस बात के उदाहरण कम नहीं कि कैसे हमारे स्वाभाविक प्यार पर धीरज का अभाव और उद्धत प्राधिकार विजय प्राप्त कर लेते हैं और बच्चों को अनुचित कारणों से दंडित होना पड़ता है।

Q121. किस तरह के लोग कमजोर लोगों पर अन्याय करते है?

(a) जो निर्बल होते हैं

(b) जो अध्यापक होते हैं

(c) जिनमें शासन करने की योग्यता नहीं होती

(d) जो दण्ड देने में कुशल हैं

 Answer: (c) जिनमें शासन करने की योग्यता नहीं होती

Explain: गद्यांश के अनुसार, वैसे लोग जो शासन करने के योग्य नहीं होते, कमजोर लोगों पर अन्याय करते हैं।

Q122. इस गद्यांश का मुख्य भाव यह है कि

(a) अध्यापक में धैर्य, ममत्व, सहिष्णुता और तार्किकता होनी चाहिए

(b) अध्यापक को सदा निर्लिप्त भाव से पेश आना चाहिए।

(c) केवल उचित कारणों पर ही अध्यापक बच्चों को अवश्य दंड दें

(d) अध्यापक में अपराध-बोध होना चाहिए

 Answer:  (a) अध्यापक में धैर्य, ममत्व, सहिष्णुता और तार्किकता होनी चाहिए

Explain: गद्यांश के अनुसार, जिन व्यक्तियों में सहिष्णुता की भावना धैर्य, ममत्व एवं तार्किकता होती है, केवल ऐसे लोग अध्यापक बनने योग्य होते हैं।

Q123. बच्चे अपनी माँ की गोद में ही स्वयं को सुरक्षित समझते हैं, क्योंकि

(a) माँ सदैव उनकी गलतियाँ माफ करती रहती है

(b) केवल माँ ही उनका लालन-पालन करती रहती है

(c) माँ के पास सुरक्षा की शक्ति परिपूर्ण है

(d) माँ के हृदय में स्नेह होता है

 Answer: (d) माँ के हृदय में स्नेह होता है

Explain: बच्चे अपनी माँ की गोद में ही स्वयं को सुरक्षित समझते हैं. क्योंकि माता के हृदय में स्थित प्रचुर प्यार एवं स्नेह की उनकी रक्षा की एकमात्र गारंटी होता है।

Q124. कौन-सा शब्द-समूह शेष शब्द-समूहों से भिन्न है?

(a) अयोग्य, अज्ञानी, अभाव

(b) अन्याय, अपराध, अपमानित

(c) अभाव, अपमानित, अधीन

(d) असहाय, अपराध, अनुचित

 Answer: (a) अयोग्य, अज्ञानी, अभाव

Q125 ‘इत‘ प्रत्यय से बनने वाला शब्द है

(a) नीत

(b) दंडित

(c) अनुचित

(d) कृत

 Answer: (b) दंडित

Explain: दण्ड + इत = दंडित अर्थात् ‘इत’ प्रत्यय से बनने वाला शब्द है – दंडित।

Q126. अध्यापक के लिए उचित विशेषण शब्द है

(a) धैर्य

(b) सहिष्णु

(c) ज्ञान

(d) योग्यता

 Answer: (b) सहिष्णु

Explain: गद्यांश के अनुसार, अध्यापक के लिए सबसे उचित विशेषण शब्द ‘सहिष्णु’ है।

Q127. लेखक के अनुसार अध्यापक बनने योग्य वही होते हैं जो

(a) अत्यंत ज्ञानवान् होते हैं

(b) उच्च डिग्री प्राप्त होते हैं

(c) धैयवान् होते हैं

(d) बच्चों से बहुत ज्यादा शक्तिशाली होते हैं

 Answer: (c) धैयवान् होते हैं

Explain: लेखक के अनुसार अध्यापक बनने योग्य वही होते हैं जो सहिष्णु एवं धैर्यवान होते हैं।

Q128. विद्यालयों में बच्चों को बिना किसी कारण दंडित करना

(a) असंभव है

(b) अध्यापक की धैर्यहीनता का चिह्न है

(c) अध्यापकीय प्रवृत्ति है

(d) दुर्लभ है

 Answer: (b) अध्यापक की धैर्यहीनता का चिह्न है

Explain: विद्यालयों में बच्चों को बिना किसी कारण दंडित करना अध्यापक की निर्बलता एवं धैर्यहीनता का परिचायक होता है।

निर्देश: नीचे दिए गए गद्यांश को पढ़कर सबसे उचित विकल्प का चयन कीजिए:

यदि हम सुनने के साथ-साथ सुनाते भी हैं, अर्थात वार्तालाप भी करते हैं तो बातें याद रहने की संभावना काफी अधिक रहती है। इसलिए भाषण तो हमें याद नहीं रहते, परंतु वार्तालाप हम भूलते नहीं हैं। सुनने के लिए पुराना भूलना भी ज़रूरी है। बुद्धि के पास वह शक्ति है जिससे वह सुनी हुई बातों का सार निकालकर बाकी विस्तार को भुला देती है, तभी हम नई बातें सुन सकते हैं। दो कान इसलिए हैं कि सुनने को इतना कुछ है कि एक कम पड़ता है। प्रकृति ने हमें मुख एक ही दिया है इसलिए कि सुनों ज्यादा, बोलो कम। सामने वाले की बात ध्यान से सुनना एक प्रकार की गतिविधि है। सुनने की कला आज दुर्लभ होती जा रही है। शोध बताते हैं कि हम जितना सुनते हैं, उसका मात्र बीस प्रतिशत ही हमें याद रहता है। सुनी बातों में से तीन दिन बाद केवल दस प्रतिशत ही याद रहता है। इसके अलावा सुनने और समझने के बीच हमारा पूर्वाग्रह, पूर्व जानकारी, पूर्व अर्जित ज्ञान भी प्रभाव डालता है।

Q129. भाषण और वार्तालाप में क्या अंतर है?

(a) भाषण में हम बोलते हैं, वार्तालाप में सुनते हैं

(b) भाषण रोचक नहीं होता, वार्तालाप रोचक होता है

(c) भाषण में केवल बोलना होता है, वार्तालाप में सुनना और बोलना दोनों होते हैं

(d) भाषण लंबा होता है, वार्तालाप संक्षिप्त होता है

 Answer: (c) भाषण में केवल बोलना होता है, वार्तालाप में सुनना और बोलना दोनों होते हैं।

Explain: गद्यांश के अनुसार, भाषण एवं वार्तालाप में मुख्य अंतर यह है कि भाषण में केवल बोलना शामिल होता है, जबकि वार्तालाप में सुनना और बोलना दोनों शामिल होते हैं।

Q130. सुनकर समझने को कौन-सा तत्व प्रभावित करता है?

(a) पूर्वाग्रह

(b) पूर्व जानकारी

(c) पूर्व अर्जित ज्ञान

(d) ये सभी

 Answer: (d) ये सभी

Explain: सुनने और समझने के बीच व्यक्ति का पूर्वाग्रह, पूर्व जानकारी एवं पूर्व अर्जित ज्ञान प्रभावित करते हैं।

Q131. लेखक के अनुसार क्या महत्वपूर्ण है?

(a) सुनना

(b) ध्यान से सुनना

(c) ध्यान से सुनकर सारतत्व ग्रहण करना

(d) सुनकर याद रखना

 Answer: (c) ध्यान से सुनकर सारतत्व ग्रहण करना

Explain: लेखक के अनुसार, सुनी हुई बातों का सार निकालकर ग्रहण करना अति-महत्त्वपूर्ण है।

Q132. ‘सुनने के लिए पुराना भूलना भी जरूरी है।’ वाक्य है

(a) प्रश्नवाचक

(b) विधानवाचक

(c) अनिश्चयात्मक

(d) आश्चर्यबोधक

 Answer: (b) विधानवाचक

Explain: प्रश्न में दिया गया वाक्य ‘विधानवाचक वाक्य’ है। विधानवाचक वाक्यों क्रिया के करने या होने का सामान्य कथन होता है।

Q133. यह जड़ी-बूटी तो आज बड़ी ………… है। वाक्य के रिक्त स्थान पर शब्द आएगा

(a) दुर्लभ

(b) दुर्गम

(c) दुस्तर

(d) दुराव

 Answer: (a) दुर्लभ

Q134. ‘पूर्वाग्रह‘ का संधि-विच्छेद है

(a) पूर्व + ग्रह

(b) पूर्वा + ग्रह

(c) पूर्व + आग्रह

(d) पूरव + आ + ग्रह

 Answer: (d) पूरव + आ + ग्रह

Q135. इस गद्यांश में बुद्धि की कौन-सी महत्वपूर्ण शक्ति का उल्लेख है?

(a) बुद्धि सुनकर याद कर लेती है

(b) बुद्धि सुनकर सार ग्रहण करती है

(c) बुद्धि विस्तार को तुरंत भूल जाती है

(d) बुद्धि सदैव नई बातें सुनती है

 Answer: (b) बुद्धि सुनकर सार ग्रहण करती है

Explain: गद्यांश के अनुसार, बुद्धि के पास वह शक्ति है जो सुनी हुई बातों का सारतत्व ग्रहण करती है।

निर्देश : सबसे सही विकल्प चुनिए

Q136. पठन कौशल से अभिप्राय है

(a) लिपि-चिह्नों की पहचान

(b) शब्दों को पढ़ना

(c) वाक्यों को पढ़ना

(d) पढ़कर समझना

 Answer: (d) पढ़कर समझना

Explain: पठन कौशल से हमारा अभिप्राय है पढ़कर उसके अर्थ को समझना।

Q137. वाइगोत्स्की ने भाषा सीखने की प्रक्रिया में किस पर बल दिया है?

(a) कक्षायी अभ्यासों पर

(b) सामाजिक अंत:क्रिया पर

(c) पाठ्य-पुस्तकों पर

(d) उचित आकलन पर

 Answer: (b) सामाजिक अंत:क्रिया पर

Explain: वाइगोत्सकी के अनुसार बालकों में समाज से अन्त:क्रिया के फलस्वरूप विभिन्न प्रकार का विकास होता है।

Q138. भाषा की पाठ्य-पुस्तक में ऐसे पाठ चुने जाएं जो

(a) संक्षिप्त हों

(b) प्रसिद्ध लेखकों के हों

(c) बच्चों के संवेदना-लोक के साथी बन सकें

(d) अनिवार्यतः मूल्यों से ओत-प्रोत हों

 Answer: (c) बच्चों के संवेदना-लोक के साथी बन सकें

Explain: भाषा की पाठ्य-पुस्तक में वैसे पाठों का समावेश किया जाए जो बच्चों के संवेदना लोक के साथी बन सकें।

Q139. भाषा सीखने में होने वाली त्रुटियाँ

(a) सीखने की प्रक्रिया का हिस्सा हैं

(b) भाषा-अपरिपक्वता को दर्शाती है

(c) अक्षम्य हैं

(d) शिक्षक की कमी को दर्शाती है

 Answer: (a) सीखने की प्रक्रिया का हिस्सा हैं

Explain: भाषा अधिगम में होने वाली त्रुटियाँ भाषा सीखने की प्रक्रिया का एक सामान्य भाग है क्योंकि भाषा अधिगम के शुरूआती दौर में त्रुटियाँ होना स्वाभाविक प्रक्रिया है।

Q140. किस तरह के लेखन को आकलन में शामिल करना उचित है?

(a) सूचना-संदेश

(b) डायरी

(c) विज्ञापन

(d) ये सभी

 Answer: (d) ये सभी

Q141. व्याकरण के पक्षों और शब्दों की बारीकी की समझ का आकलन

(a) परिभाषा के रूप में किया जाना चाहिए

(b) संदर्भ युक्त सामग्री में किया जाना चाहिए

(c) बिल्कुल नहीं किया जाना चाहिए

(d) अधिक अंकों का होना चाहिए

 Answer: (b) संदर्भ युक्त सामग्री में किया जाना चाहिए

Explain: व्याकरण के पक्षों का आकलन संदर्भयुक्त सामग्री में किया जाना चाहिए।

Q142. भाषा में आकलन का प्रयोग मुख्यतः …………. के लिए होना चाहिए।

(a) बच्चों के भाषा-सौंदर्य परीक्षण

(b) बच्चों की भाषा-प्रयोग की क्षमता

(c) भाषा के उच्च ज्ञान के परीक्षण

(d) भाषा की पाठ्यचर्या के स्तर-ज्ञान

 Answer: (b) बच्चों की भाषा-प्रयोग की क्षमता

Explain: भाषा में आकलन का प्रयोग मुख्यतः बच्चों की भाषा-प्रयोग की क्षमता के लिए किया जाना चाहिए।

Q143. भाषा-शिक्षण के संदर्भ में कौन-सा कथन उचित है?

(a) भाषा-शिक्षण के लिए अधिकाधिक कठिन अभ्यासों का प्रयोग किया जाए

(b) आजकल भाषा-शिक्षण में अधिकाधिक उच्चस्तरीय ई-मेल तकनीक का प्रयोग अनिवार्य है

(c) भाषा-शिक्षण में सिनेमा को शामिल नहीं किया जाना चाहिए

(d) प्रथम भाषा-अर्जन की तरह द्वितीय भाषा के रूप में हिंदी के सहज अर्जन के लिए प्रिंट समृद्ध वातावरण जरूरी है

 Answer: (d) प्रथम भाषा-अर्जन की तरह द्वितीय भाषा के रूप में हिंदी के सहज अर्जन के लिए प्रिंट समृद्ध वातावरण जरूरी है

Q144. नीना की कक्षा में बच्चे अकसर एक संकल्पना/ वस्तु/ प्राणी के लिए अलग-अलग भाषाओं के शब्द खोजते हैं। नीना ऐसा क्यों करती है?

(a) बच्चों को व्यस्त रखने के लिए

(b) बच्चों की मातृभाषाओं की जानकारी प्राप्त करने के लिए

(c) बहुभाषिकता को बढ़ावा देने के लिए

(d) शिक्षण को अधिक रोचक व व्यस्ततापूर्ण बनाने के लिए

 Answer: (c) बहुभाषिकता को बढ़ावा देने के लिए

Explain: शिक्षिका नीना बच्चों में बहुभाषिकता को बढ़ावा देने के लिए वस्तुओं एवं प्राणियों के नाम अलग-अलग भाषाओं में खोजने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।

Q145. ‘डिस्याफिया’ का संबंध किससे है?

(a) पठन-अक्षमता से

(b) लेखन अक्षमता से

(c) गणना संबंधी अक्षमता से

(d) बोलने संबंधी अक्षमता से

 Answer: (b) लेखन अक्षमता से

Explain: ‘डिस्याफिया’ का सम्बन्ध लेखन-अक्षमता से है।

Q146. बच्चे अनुकरण से भाषा सीखते हैं। यह कथन

(a) पूर्णतः सत्य है

(b) आंशिक रूप से ही सत्य है

(c) पूर्णतः असत्य है

(d) सारहीन है

 Answer: (b) आंशिक रूप से ही सत्य है

Q147. भाषा-शिक्षक के रूप में आपके लिए महत्वपूर्ण है

(a) बच्चों द्वारा त्रुटिरहित भाषा प्रयोग करवाना

(b) बच्चों से पाठ्य-पुस्तक पढ़वाना

(c) बच्चों द्वारा बेझिझक भाषा प्रयोग करवाना

(d) बच्चों से विस्तार से गृहकार्य करवाना

 Answer: (c) बच्चों द्वारा बेझिझक भाषा प्रयोग करवाना

Explain: बच्चों द्वारा बेझिझक भाषा प्रयोग करवाना भाषा विकास के लिए अति-महत्त्वपूर्ण है।

Q148. उच्च प्राथमिक स्तर पर कौन सा भाषा शिक्षण का उद्देश्य नहीं है?

(a) निजी अनुभवों के आधार पर भाषा का सृजनशील प्रयोग।

(b) भाषा के सौंदर्य को समझने की क्षमता का विकास।

(c) मुहावरों, लोकोक्तियों और कहावतों का सुचिंतित प्रयोग करने की प्रवृत्ति का विकास।

(d) कठिन शब्दों के अर्थ पूछना

 Answer: (d) कठिन शब्दों के अर्थ पूछना

Explain: उच्च प्राथमिक स्तर पर बच्चों से कठिन शब्दों के अर्थ पूछना भाषा शिक्षण का उद्देश्य नहीं है।

Q149. …………… के अतिरिक्त निम्नलिखित पाठ्यक्रम सहगामी क्रियाकलाप भाषा सीखने में सहायक हो सकते हैं।

(a) परिचर्चा

(b) घटना-वर्णन

(c) पाठों को याद करना

(d) गीत

Answer: (c) पाठों को याद करना

Explain: प्रश्न में दिए गए विकल्प (c) के अतिरिक्त अन्य सभी क्रियाकलाप भाषा अधिगम में सहायक हो सकते हैं।

Q150. पूरक पाठ्य-पुस्तक का उद्देश्य है

(a) बलपूर्वक पढ़ना

(b) अतिरिक्त गृहकार्य देना

(c) वाचन अभ्यास

(d) गंभीर साहित्य पढ़ना

 Answer: (c) वाचन अभ्यास

Explain: पूरक पाठ्य पुस्तक का उद्देश्य है बच्चों में वाचन अभ्यास को बढ़ावा होना।

Pages ( 5 of 5 ): « Previous1 ... 4 5

Read Important Article

Leave a Comment

error: Content is protected !!